पीएम विश्वकर्मा योजना ( प्रधान मंत्री विश्वकर्मा योजना 2023)|| PM Vishvkarma Yojana

पीएम विश्वकर्मा योजना ( प्रधान मंत्री विश्वकर्मा योजना 2023)|| PM Vishvkarma Yojana पीएम विश्वकर्मा योजना क्या है, प्रधान मंत्री विश्वकर्मा योजना, उद्देश्य, ऑनलाइन आवेदन, पात्रता, लाभार्थी,योजना का लाभ, विशेषताएं क्या है, दस्तावेज, अधिकारिक वेबसाइट, हेल्पलाइन नंबर (PM Vikas Yojana, PM Vishwakarma Kaushal, Yojana, (PM Vishwakarma Shram Samman Yojana in Hindi) (Benefit, Online Apply, Registration, Eligibility, Beneficiary, Documents, Official Website, Helpline Number)

केंद्र सरकार ने भारतीय परंपरागत कारीगरों के परिवारों की मदद और देश के युवा आईटी पेशेवरों की प्रतिभा को निखारने के लिए एक बड़ी महत्वपूर्ण योजनाओं को मंजूरी दी है। मंत्रिमंडल ने बुधवार को 13 हजार करोड़ रुपये की पीएम विश्वकर्मा योजना को मंजूरी दी। इसके तहत शिल्पकार, बुनकर, सुनार, धोबी, मोची, नाई और कारीगर को सरकार पीएम विश्वकर्मा प्रमाणपत्र व पहचानपत्र मुहैया कराएगी। इन लोगों को पहले चरण में एक लाख व दूसरे चरण में दो लाख रुपये तक का कर्ज पांच फीसदी की दर पर उपलब्ध कराया जाएगा। योजना से कारीगरों के 30 लाख परिवारों को लाभ होगा। आइये जानते है इस योजना के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी, क्या है इस योजना का उद्देश्य, लाभ, कौन है पात्रता, कैसे करे आवेदन इस आर्टिकल से जाने पुरी जानकारी

पीएम विश्वकर्मा योजना 2023 (PM Vishvkarma Yojana in Hindi )

योजना का नाम पीएम विश्वकर्मा योजना 2023
किसने सुरु किया केंद्र सरकार
कब सुरु हुई 16 अगस्त 2023
उद्देश्य विश्वकर्मा समुदाय के लोगों ब्याज में आर्थिक सहायता व् ट्रेनिंग देना
लाभार्थी विश्वकर्मा समुदाय के तहत आने वाली जातियां
ओफ्फिसियल वेबसाइट लिंक
cggovtyojana

प्रधानमंत्री पीएम विश्वकर्मा योजना क्या है (What is Pradhan Mantri PM Vishwakarma Yojana)

पीएम विश्वकर्मा योजना अर्थात प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौसल योजना इस योजना की सुरुवात केंद्र सरकार द्वारा 2023-24 के बजट सत्र मे लागु किया है, इस योजना के तहत पारम्परिक शिल्पकारों और कारीगरों को जो विश्वकर्मा समुदाय के अंतर गत आते हे उनकी सहायता के लिए केंद्रीय योजना पीएम विश्वकर्मा योजना लागु की गयी है, इस योजना मेइस योजना मे जो लोग अपने घरों से अपने काम को करते है उन लोगो को इस योजना के तहत कौसल विकास प्रशिक्षण, टुलकित लाभ डिजिटल लेनदेन के लिए इंसेटिव और मार्केटिंग सपोर्ट किया जायेगा इस योजना के तहत 18 पारम्परिक व्यवसाय को शामिल किया गया है,

पीएम विश्वकर्मा योजना के मुख्य बिंदु (Main points of PM Vishwakarma scheme)

  • योजना के तहत 13000 करोड़ रुपये बजट का का प्रावधान किया गया है
  • योजना मे 18 पारंपरिक व्यवसाय को शामिल किया गया है
  • पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत शिल्पकार और कारीगरों को प्रमाण पत्र आईडी कार्ड के जरिए मिलेगी पहचान
  • योजना के पहले चरण मे 1 लाख रुपये की और दूसरे चरण मे 2 लाख रुपये तक की सहायता महज 5% की ब्याज दर पर आर्थिक मदद मिलेगी
  • योजना के तहत मिलेगा कौसल विकास प्रशिक्षण, टूलकिट लाभ,डिजिटल लेनदेन के लिए इंसेटिव और मार्केटिंग सपोर्ट

पीएम विश्वकर्मा योजना का उद्देश्य (Objective of PM Vishwakarma Yojana)

इस योजना का उद्देश्य देश के ऐसे लोगो को आगे लाना है, जो काम करना तो जानते है पर उन्हे आर्थिक रूप से कोई मददत नही जैसे कारपेंटर, नाव बनाने वाला, लोहार, हथोड़ा टूलकिट बनाने वाला और भी अन्य जिनके पास हुनर है पर आर्थिक तंगी के कारण अपने काम को एक सही दिशा में मोड़ नहीं पाते, सहायता नही मिलती है जिसके कारण वह पीछे हो जाता है, इस प्रकार के लोगो को इस योजना तहत आर्थिक सहायता एवं प्रशिक्षण दे कर आगे लाना है जिसे वह एक अच्छे लेवल पर काम कर के अपने परिवार व अपने देश के विकास मे मदत कर सके

पीएम विश्वकर्मा योजना के लाभर्थी (Beneficiaries of Architectural Scheme)

  1. कारपेंटर
  2. नाव बनाने वाले
  3. अस्त्र बनाने वाले
  4. लोहार
  5. ताला बनाने वाले
  6. हथौड़ा और टूलकिट निर्माता
  7. सुनार
  8. कुम्हार
  9. मूर्तीकार
  10. मोची
  11. राज मिस्त्री
  12. डलिया, चटाई, झाड़ बनाने वाले
  13. पारंपरिक गुड़िया और खिलौने बनाने वाले
  14. नाई
  15. मालाकार
  16. धोबी
  17. दर्जी
  18. मछली का जाल बनाने वाले

पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों के साथ- मोदी सरकार’पीएम विश्वकर्मा योजना’शिल्पकारों के उत्पादों और सेवाओं की बढ़ेगी गुणवत्ताछोटे कारीगरों को मिलेगा घरेलू व वैश्विक बाजारपहले चरण में 18 पारंपरिक व्यवसायों को किया जाएगा शामिल

पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों के साथ- मोदी सरका

हुनरमंदों के साथ मोदी सरकार प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना को मंजूरी इस योजना के तहत दो किस्तों में 3 लाख रुपए तक का ऋण रियायती दरों पर कराया जाएगा उपलब्ध योजना का वित्तीय परिव्यय 13,000 करोड़ रुपये योंजना के पहले चरण में 18 पारंपरिक व्यवसायों को किया जाएगा शामिल

विश्वकर्मा योजना 2023 क्या है ?

विश्वकर्मा योजना अपने हांथो और औजारो से काम करने वाले कारीगरों और शिल्पकारो द्वारा पारंपरिक कौशल परम्परा या पारिवार-आधारित अभ्यास को मजबूत बनाने और विश्वकर्मा समुदायों को आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करने व इस वर्ग को रोजगार के छेत्र में आगे करने के लिए इस योजना को लागु किया गया है

विश्वकर्मा योजना कब सुरु हुवा ?

16 अगस्त 2023

पीएम विश्वकर्मा योजना में कितने रूपये मिलेगा

इस योजन में दो किस्तों में राशी दिया जायेगा जो 3 लाख रूपये है,

अन्य post इन्हे भी पढ़े 👇

(रजिस्ट्रेशन) खूबचंद बघेल स्वास्थ सहायता योजना 2023

छत्तीसगढ़ बेरोजगारी भत्ता योजना 2023